Monday, 20 March 2017

पाकिस्तान में "हिन्दू मैरिज बिल -1027 " पर राष्ट्रपति की मुहर ,जल्द शुरू होगा कानून

पाकिस्तान में "हिन्दू मैरिज बिल -1027 " पर राष्ट्रपति की मुहर  ,जल्द शुरू होगा कानून

photo,images,picture,news,khabar,Bollywood,Hollywood,India,world,social,political,election,gossip, masala,taza,information,market, business,art,hungama,entertainment,latest,gallery,breaking,TV,aajkall box office,exclusive,current,headlines, daily hunt,crime,society,scandals, rumors,celebrity,mirchi,vichar page,virat kohli,social,report,choya,parda,film,samiksha,relationship,image,photo,pic,wallpaper,gallery,image,img,Design collaboration,graphics,album,shahrukh,adhiya,arjun,mubarkan,anil kapoor,badrinath,ki,dulhniya,alia,bhatt,varun,dhawan
पाकिस्तान में बहुप्रतिक्षित "हिन्दू मैरिज बिल -2017 "पर राष्ट्रपतिममनून हुसैद के हस्ताक्षर हो गए हैं इसके बाद वहां अल्पसंख्यक के तौर पर रहने वाले हिंदुओं के पास विवाह का अपना कानून होगा। इस कानून के बाद वहां हिन्दू अपने रीति -रिवाजों के साथ शादी कर सकेंगे।
 इसके साथ ही हिन्दू ,शादियों से संबधित आने वाली हर कानूनी अड़चन को इस नए कानून के जरिये पार कर सकेंगे।
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के ऑफिस से इस बारे में जानकारी दी गई हैं। इस बिल को लेकर पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं को काफी लंबा इंतजार करना पड़ा है।
नवाज शरीफ की ओर से जारी एक व्यक्तव में कहा है कि हिन्दू अल्पसंख्यक उतने ही देशभक्त हैं जितने की और लोग। ऐसे में उन्हें भी समान अधिकार मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि सुरक्षा का भाव सबके अंदर होना चाहये। गौरतलब है कि राष्ट्रपति की ऒर से मुहर लग जाने के बाद से यह कानून पूरे पाकिस्तान में लागू होगा। हालाँकि सिर्फ सिंध क्षेत्र में सिर्फ इसे लागू नहीं किया जायेगा ,ऐसा इसलिए क्योंकि सिंध क्षेत्र में अलग "मैरिट एक्ट "लागू हैं।
यह कानून लागू होने पर ये लाभ होंगे :
  • इसमें शादी से सम्बंधित अधिकार प्राप्त होंगे ,हिन्दू परिवार को देखते हुए इसमें महिलाओं परिजनों ,माँ -बच्चो को उनके अधिकार प्राप्त होंगें। 
  • इसके साथ ही कानून के हिसाब से शादी से अलग होने ,पत्नी -बच्चो को आर्थिक सुरक्षा देने में मदद होगा। 
  • शादीशुदा शख्स के शादी करने और विधवा विवाह को लेकर भी में कानून में अलग -अलग प्रावधान किए गए हैं। 
  • कानून के लागू होने से पहले की हिन्दू शादियों को कानूनी माना जायेगा ,साथ ही पुराने विवादों को फैमिली कोर्ट में भेज जायेगा। 
  • इसके साथ की कानून तोड़ने पर सख्त सजा का प्रावधान किया गया है इसमें 1 लाख का जुर्माना और सजा का प्रावधान हैं।





No comments:
Write comments

AdSense

amazon