Tuesday, 7 March 2017

भारत -यूएई के तेल भंडार समझौते को सरकार ने मंजूरी दी

भारत -यूएई के तेल भंडार समझौते को सरकार ने मंजूरी दी

photo,images,picture,news,khabar,Bollywood,Hollywood,India,world,social,political,election,gossip, masala,taza,information,market, business,art,hungama,entertainment,latest,gallery,breaking,TV,aajkall box office,exclusive,current,headlines, daily hunt,crime,society,scandals, rumors,celebrity,mirchi,vichar page,virat kohli,social,report,choya,parda,film,samiksha,relationship,pic,image,picture,wallpaper,gallery

केंद्रीय कैबिनेट ने यूएई के साथ रणनीतिक तेल भंडार समझौते को मंजूरी देदी है भारतीय रणनीतिक https://www.blogger.com/blogger.g?blogID=9038328888054684260#editor/target=post;postID=7796281543654815885;onPublishedMenu=allposts;onClosedMenu=allposts;postNum=10;src=linkपेट्रोलियम रिज़र्व लिमिटेड  और यूएई की कंपनी अबू धाबी नेशनल आयल कंपनी की बीच में करार हुआ था

करार के मुताबिक यूएई भारत के मंगलौर में बन रहे भूमिगत भंडार में करीब 8. 6  मिलियन बैरल कच्चा तेल रखेगा। इसमें से एक हिस्सा भारत को मुफ्त मिलेगा। यह हिस्सा 5 लाख टन के करीब होगा। बता दे कि भारत को अपनी कुल जरुरत का 79 फीसदी कच्चा तेल आयात करना पड़ता है किसी भी खाड़ी देश का भारत के ऊर्जा क्षेत्र में ये पहला निवेश है
अंतररास्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के डैम में आने वाले उतार -चढ़ाव को ध्यान में रखते हुए आँध्रप्रदेश के विशाखापट्नम ,कर्णाटक के पाडुर और मेंगलुरु में जमीन के नीचे रणनीतिक तेल भंडार बनाये जा रहे है  इनमे 53. 30 लाख तन कच्चे तेल को स्टोर किया जा सकेगा।











No comments:
Write comments

AdSense

amazon